Tuesday, July 16, 2024
Homeबिहारपटनासासाराम हिंसा मामले में अब तक 109 गिरफ्तार, बोले DGP- हमला नहीं,...

सासाराम हिंसा मामले में अब तक 109 गिरफ्तार, बोले DGP- हमला नहीं, बम बनाने के दौरान हुआ ब्लास्ट

पटना. बिहार के पुलिस महानिदेशक आरएस भट्ठी ने कहा है कि राज्य में कानून और व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह सामान्य है. पिछले दिनों बिहार के सासाराम और बिहार शरीफ में हुई हिंसा मामले में अब तक कुल 109 लोगों की गिरफ़्तारी हो चुकी है. किसी भी असामाजिक तत्व को बक्शा नहीं जाएगा. उन्होंने कहा कि सासाराम में बम बनाते वक्त विस्फोट से एक व्यक्ति घायल हुआ है. उसपर बम से हमला करने की बात सही नहीं है. जब वो लोग बम बना रहे थे, तभी एक्सप्लोसिव ब्लास्ट हुआ. अभी वह अस्पताल में हैं. जब वह ठीक होगा, तब उसकी गिरफ्तारी होगी. उन्होंने कहा कि हर फुटेज की जांच हो रही है, किसी को बख्शा नहीं जायेगा.

राज्य में सुरक्षा की व्यवस्था नियंत्रित

नालंदा और सासाराम में हुए उपद्रव को लेकर बिहार के DGP और मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने रविवार शाम मीडिया से बातचीत की. DGP आरएस भट्ठी ने कहा वर्तमान में पूरे राज्य में विधि व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है. पटना में पत्रकारों से बात करते हुए डीजीपी ने दावा किया कि वर्तमान में पूरे राज्य में सुरक्षा की व्यवस्था नियंत्रित है. पिछले दिनों हुई हिंसा में एक व्यक्ति की मृत्यु हुई, जिसमें गिरफ़्तारी हुई है. इसके अलावा, जो लोग बम से ज़ख्मी हुए थे, उसकी भी जांच की गयी है. रोहतास जिले के नालंदा के बिहारशरीफ और सासाराम में 31 मार्च को झड़पों की सूचना के बाद सीआरपीएफ, एसएसबी और आईटीबीपी सहित केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) की कुल 10 कंपनियों (लगभग 1,000 कर्मियों) को बिहार भेजा गया है. उन्होंने कहा कि हर बिंदू पर अनुसंधान होगा. लगातार लोगों की पहचान की जा रही है. कानून पूरी ताकत के साथ निपटेगा. हम किसी कीमत पर हालात को बेकाबू नहीं होने देंगे.

अनुग्रह अनुदान देने का निर्देश

इधर, सासाराम और नालंदा के बिहारशरीफ समेत राज्य के कुछ जिलों में रामनवमी जुलूस के दौरान हुई हिंसा को लेकर रविवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हाई लेवल मीटिंग की. एक अणे मार्ग स्थित संकल्प में हुई इस उच्च स्तरीय बैठक में मुख्य सचिव आमिर सुबहानी और डीजीपी आरएस भट्टी समेत संबंधित विभाग के सभी बड़े अधिकारी मौजूद रहे. समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये हैं. उन्होंने कहा कि उपद्रवियों की पहचान कर उनपर सख्त से सख्त कार्रवाई करें. अफवाह फैलाने वालों पर नजर रखें. इसके साथ मुख्यमंत्री ने मृत व्यक्ति के निकटतम परिजन को मुख्यमंत्री राहत कोष से पांच लाख रुपए का अनुग्रह अनुदान देने का निर्देश दिया.

अफवाह फैलाने वालों पर नजर रखने का निर्देश

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि पुलिस और प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट रहें, उपद्रवियों की पहचान कर उनके खिलाफ सख्स से सख्त कार्रवाई की जाये. किसी भी हालत में कोई गड़बड़ी नहीं कर सके, इसपर नजर रखने की हिदायस सीएम ने दी है. इसके साथ ही विधि व्यवस्था को पूरी तरह से मेंटेन रखने और अफवाह फैलाने वालों पर नजर रखने का निर्देश सीएम ने दिया है. नीतीश कुमार ने राज्य के मुख्य सचिव और डीजीपी को निर्देश दिया है कि वे जिलों के डीएम और एसपी से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरीए बात कर हालात की जानकारी लें.

मुख्य सचिव बोले- अपराध करने वाले को सजा दिलाई जाएगी

मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने कहा कि जिन्होंने किसी तरह का सामाजिक या कानूनी अपराध किया है, उन्हें कानून के दायरे में लाकर सजा दिलाई जाएगी. यह मुख्यमंत्री का निर्देश है. मैं उनका यह निर्देश आप के माध्यम से, मीडिया के माध्यम से सभी तक पहुंचाना चाहता हूं कि राज्य सरकार इस बात पर दृढ़ है कि शांति व्यवस्था बनी रहे।. किसी तरह की गड़बड़ी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest News