बिहार: 9 से 5 पढ़ाओ, फिर करो चुनाव ड्यूटी… शिक्षकों को KK पाठक का नया फरमान

By Top Bihar

Published on:

Follow Us
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

बिहार के सरकारी स्कूलों में अवकाश को लेकर शुरू हुआ विवाद अभी थमा भी नहीं है कि शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव के पाठक ने एक नया फरमान जारी कर दिया है. के के पाठक ने बिहार के सभी जिलों के जिलाधिकारी को एक पत्र लिखकर यह निर्देश दिया है कि चुकी शिक्षकों के सहयोग के बिना चुनाव कार्य संपन्न नहीं हो सकता,लेकिन शिक्षक स्कूल में पठन-पाठन छोड़कर चुनावी ड्यूटी नहीं करेंगे. बल्कि शिक्षकों को सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक पठन-पाठन कार्य की ड्यूटी समाप्त करने के बाद ही चुनावी ड्यूटी भी करनी होगी.

केके पाठक ने अपने पत्र में यह कहा है कि जिन शिक्षकों को चुनावी ड्यूटी में लगाया जाए तो यह ध्यान रखा जाए कि उनकी ड्यूटी शाम 5 बजे के बाद ही शुरू हो.अब शिक्षक स्कूल आवर में कोई अन्य ड्यूटी नहीं कर सकेंगे, लेकिन ऐसा भी नहीं है कि गैर शैक्षणिक कार्य से शिक्षकों को मुक्ति मिल जाएगी, बल्कि नए फरमान के अनुसार स्कूल की ड्यूटी समाप्त करने के बाद अतिरिक्त ड्यूटी के रूप में चुनाव कार्य करने होंगे.

पहले पढ़ाओ फिर चुनावी ड्यूटी

केके पाठक ने अपने नए फरमान को लेकर कहा है कि चुनावी ड्यूटी के लिए शिक्षकों को अतिरिक्त मानदेय मिलता है इसलिए उन्हें ड्यूटी भी अतिरिक्त करनी होगी. छुट्टियों में कटौती को लेकर शिक्षक अभी अपनी नाराजगी जाता ही रहे थे की शिक्षा विभाग ने अतिरिक्त ड्यूटी का पत्र जारी कर दिया है. केके पाठक का ये आदेश तब आया है जब शिक्षक अपनी छुट्टियों में कटौती का विरोध कर रहे हैं शिक्षा विभाग के आदेश के अनुसार अब गर्मी की छुट्टियों के दौरान भी शिक्षकों को विद्यालय में उपस्थित रहना होगा और इस दौरान शिक्षक प्रशासनिक कार्य करेंगे. ग्रीष्मावकाश सिर्फ छात्र-छात्राओं के लिए होगा.

शिक्षक लगातार यह मांग करते रहे हैं मतदान, मतगणना, जनगणना जैसे गैर शैक्षणिक कार्य से शिक्षकों को मुक्त किया जाए. लेकिन इसके इतर शिक्षा विभाग ने उन्हें गैर शैक्षणिक कार्य में तो लगा ही दिया है लेकिन पठन-पाठन के कार्य के अतिरिक्त गैर शैक्षणिक कार्य अब शिक्षकों को करना होगा.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now