Tuesday, July 16, 2024
HomeबिहारBIHAR: मातम में बदली जितिया पर्व की खुशियां, बिहार में स्नान के...

BIHAR: मातम में बदली जितिया पर्व की खुशियां, बिहार में स्नान के दौरान 12 की मौत, सोन नदी में बह गईं 5 लड़कियां

बिहार में जितिया पर्व पर कई घरों में मातम पसर गया। स्नान के दौरान बिहार के अलग-अलग जिलों में नदी में डूबने से 12 लोगों की मौत हो गई। सबसे भयावह घटना आरा को भोजपुर में घटी। जब सोन नदी में नहाने के दौरान 5 लड़कियां बह गई। जिनकी तलाश जारी है। वहीं जहानाबाद में 2 किशोर समेत 4 लोग नदी में डूब गए। वहीं पटना का पालीगंज में सोन नदी में डूबने से 3 की मौत हो गई। जितिया त्यौहार पर भोजपुर में शनिवार को सोन नदी में नहाने के दौरान पांच लड़कियां डूब गयीं। इनमें तीन किशोरियां व दो युवतियां शामिल हैं।

हादसा चांदी के बहियारा और खनगांव के बीच स्थित पथलवा घाट पर शाम में हुआ। सोन नदी का बहाव तेज होने के कारण सर्च अभियान चलाने में परेशानी हो रही है। जितिया व्रत को लेकर महिलाएं नहाने के लिए पथलवा घाट गयी थीं। वहीं लोगों का कहना है कि नदी की धार को बांध कर पोकलेन मशीन से बालू निकालने के कारण सोन का तल गहरा व गड्ढेनुमा हो गया है। इस कारण ही सभी पांचों सोन में डूब गयीं।

Sharad Purnima 2023: चंद्र ग्रहण के साए में मनाया जाएगा शरद पूर्णिमा, जानिए 2023 में किस दिन है

वहीं पटना के महाबलीपुर सोन तट पर जीतिया नहाने गए तीन लोगों की डूबने से मौत हो गई। मृतक की पहचान नगर थाना क्षेत्र के परियो गांव निवासी जामुन साव के बेटे 25 वर्षीय कुश कुमार, सत्येंद्र प्रसाद के बेटे 16 वर्षीय आनंद कुमार और महाबलीपुर निवासी लवकुश कुमार के बेटे 12 वर्षीय सागर कुमार के रूप में हुई है। घटना शनिवार शाम करीब पांच बजे की है। जीतिया के मौके पर महाबलीपुर सोन तट पर स्नान व अर्घ्य देने लिए महिलाओं की भीड़ उमड़ी थी।

महिलाएं अपने साथ बच्चों को भी साथ लाई थीं। स्नान के दौरान ही यह हादसा हुआ। घटना की जानकारी मिलते ही महाबलीपुर के लोग परिजनों के साथ नदी में उतर गए और एक के बाद एक तीन शवों को नदी से बाहर निकाला गया। एक युवक सहित दो बच्चे का शव निकलने के बाद सोन नदी तट पर चीख पुकार मच गई। सभी श्रद्धालु अपने बच्चों को ढूंढने के लिए इधर उधर भागने लगे। 

Shardiya Navratri 2023: शारदीय नवरात्रि कब से शुरू हैं? जानिए कलश स्थापना और पूजन का शुभ मुहूर्त

वहीं जहानाबाद जिले के अलग-अलग इलाकों में भी जितिया पर्व पर नहर और पईन में डूबने से दो किशोर सहित चार बच्चों की मौत हो गई। दो बच्चे शुक्रवार की शाम में ही डूब गए जिनका शव शनिवार को पानी से निकाला गया। मखदुमपुर में दो जगहों पर घटना घटी। पहली घटना टेहटा के कलानौर की है, जहां नहर में डूबने से नवलेश (13) की मौत हो गई।

दूसरी घटना विशुनगंज ओपी के जमगंज के पास हुई, जहां पईन में डूबने से स्नेहा (6) की मौत हो गई। वह नहर की सीढ़ी पर स्नान कर रही थी। तभी पैर फिसल जाने के कारण गहरे पानी में चली गई। घोसी के ओकरी ओपी अंतर्गत मंडई बियर में शनिवार की दोपहर डूबने से बच्चे (5) की मौत हो गई। मठिया गांव के पास गंगहर पईन में डूबने से एक किशोर की मौत हो गयी है। शनिवार की सुबह कलभट के पास फंसा हुआ उसका शव मिला।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Latest News