बिहारपटना

मनीष कश्यप के भाषण के चक्कर में 5 पुलिस वाले सस्पेंड, कोर्ट में पेशी के दौरान मीडिया को दिया था इंटरव्यू

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

DESK: यूट्यूबर मनीष कश्यप ने पटना सिविल कोर्ट में पेशी के दौरान मीडिया के सामने बयान दिया था, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। वायरल वीडियो को संज्ञान में लेते हुए पुलिस अधिकारियों ने मनीष कश्यप को पेशी करवाने ले जा रहे पांच जवानों को निलंबित कर दिया है। हालांकि वायरल वीडियो की सत्यता की पुष्टि टॉप बिहार नहीं करता है।

वायरल वीडियो में मनीष कश्यप ने कहा था कि हम चारा चोर के बेटा थोड़े ही है, जो हम डरेंगे। दरअसल, पेशी के दौरान बंदी को किसी भी बाहरी से बातचीत करने की इजाजत नहीं होती। ऐसे में सिपाहियों के सामने मनीष कश्यप ने बयान दे दिया और किसी ने रोक-टोक नहीं की। लिहाजा जवानों पर कार्य में लापरवाही का आरोप लगाते हुये कार्रवाई कर दी गई। एसएसपी राजीव मिश्रा ने इसकी पुष्टी की है।

वायरल वीडियो में मनीष कश्यप आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव और राज्य के डिप्टी सीएम तेजस्वी प्रसाद यादव पर हमला करते हुए कहा था कि मुझे झुकाने का प्रयास किया जा रहा है। मगर, मैं फौजी का बेटा हूं। मैं मर जाऊंगा पर इन लोगों के आगे नहीं झूकूंगा।

गौरतलब है कि मनीष कश्यप को तमिलनाडु में बिहारियों के साथ कथित दुर्व्यवहार पर फेक वीडियो बनाने का आरोप लगा है। उस समय भी जब पुलिस की गिरफ्त से मनीष कश्यप बाहर था, तो सीधे तेजस्वी यादव पर टारगेट कर रहा था। इस बार भी 22 सितंबर को कोर्ट में पेशी के दौरान मनीष कश्यप ने कहा कि यादव इंजीनियर की हत्या कर दी गई, तेजस्वी यादव मौके पर क्यों नहीं गए थे?

मनीष कश्यप ने तमिलनाडु सरकार पर भी निशाना साधा। मनीष ने कहा कि “एमके स्टालिन के बेटा उदय निधि स्टालिन ने आग लगाया कि नहीं लगाया? उसे जेल में क्यों नहीं डाला जा रहा है?

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now