Tuesday, July 23, 2024
Homeबिहारदो बहनों से शादी, एक को बनाया था MLA, दूसरी को… सजा...

दो बहनों से शादी, एक को बनाया था MLA, दूसरी को… सजा को लेकर चर्चा में बिहार का ये बाहुबली

DESK: सीएम नीतीश कुमार के सामने गोली चलाने वाले बिहार के बाहूबली पूर्व विधायक रणवीर यादव और उनकी जिला परिषद अध्यक्ष पत्नी कृष्णा यादव को कोर्ट ने तीन साल की सजा सुनाई है. कोर्ट ने दोनों पर जुर्माना भी लगाया है. जुर्माना भुगतान नहीं करने की स्थिति में अतिरिक्त सजा का कोर्ट ने प्रावधान किया है. रणवीर यादव और उनकी पत्नी को 8 साल पुराने रंगदारी के मामले में सजा सुनाई गई है. सजा सुनाए जाने के बाद रणवीर यादव ने कहा है कि उनकी पत्नी कृष्णा यादव ने खगड़िया से लोकसभा चुनाव लड़ने का ऐलान किया था, इसके बाद साजिश के तहत हमें फंसाया गया है.

रणवीर यादव ने फैसले के खिलाफ पटना हाईकोर्ट जाने की बात कही है. कोर्ट से सजा सुनाए जाने के बाद कृष्णा यादव की जिला परिषद अध्यक्ष की कुर्सी भी अब खतरे में है.

चचेरे भाई को छत से फेंककर मारने का आरोप

कृष्णा यादव को भले ही पहली बार किसी मामले में सजा हुई हो लेकिन बिहार के इस बाहुबली विधायक का अपराधों से गहरा याराना है. रनवीर यादव अभी हत्या के मामले में सजायाफ्ता हैं. उनपर खगड़िया के चुकती में चचेरे भाई सुनील यादव को दो मंजिला मकान के छत से फेंकने का आरोप लगा था.

लंबी है बाहुबली विधायक की क्राइम लिस्ट

इसके बाद सुनील की मौत हो गई. मरने से पहले सुनील यादव ने पुलिस को दिए बयान में कहा था कि रणवीर यादव ने उन्हें गोली भी मारी थी. इस मामले में मुंगेर के अपर सत्र न्यायाधीश प्रथम ने रणवीर यादव को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. हालाकि बाद में हाईकोर्ट ने आजीवन कारावास को 10 साल की सजा में बदल दिया. रनवीर यादव दिसंबर 2016 से ही जेल में बंद थे. सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिलने के बाद वह अब जेल से बाहर हैं.

रणवीर यादव पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार के सामने फायरिंग करने का आरोप लगा है. इसके साथ ही वह, लक्ष्मीपुर-तौफीर नरसंहार में भी आरोपी हैं. चचेरे भाई सुनील यादव की हत्या के साथ ही उनपर सगे भाई बलबीर चंद की संपत्ति लूट समेत रंगदारी, धमकी के दर्जनों मामले दर्ज हैं.

सजायाफ्ता हुए तो चुनाव लड़ने पर लगी रोक

अभी सजायाफ्ता होने की वजह से उनके चुनाव लड़ने पर रोक लग गया है. कभी लालू यादव के करीबी रहे रणवीर यादव की राजनीति विरासत को उनकी दोनों पत्नियां आगे बढ़ा रही हैं. कृष्णा यादव और पूनम यादव सगी बहने हैं, लेकिन सियासी मैदान में दोनों बहन अलग-अलग दल से उतरती हैं.

एक घर में जेडीयू- आरजेडी की नेता

उनकी पहली पत्नी पूनम यादव जो खगड़िया की दो बार विधायक रही हैं जेडीयू के साथ हैं जबकि उनकी दूसरी पत्नी कृष्णा यादव जो जिला परिषद अध्यक्ष है आरजेडी की राजनीति करती है. पूनम यादव और कृष्णा यादव सगी बहने हैं. इसके बाद भी दोनों की अदावत की खबरें सुर्खियों में रहती है. कुछ दिन पहले कृष्णा यादव ने पूर्व विधायक पूनम यादव और उनके बेटे पर घर में घुसकर जान से मारने की कोशिश करने का आरोप लगाया था.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Latest News