Tuesday, June 25, 2024
HomeबिहारVande Bharat Express Train: पटना-रांची वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन दूसरे ट्रायल में...

Vande Bharat Express Train: पटना-रांची वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन दूसरे ट्रायल में भी जानवर से टकराई, 27 जून को होना है उद्घाटन

Vande Bharat Express Train: बिहार की राजधानी पटना से झारखंड की राजधानी रांची के बीच चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का शुभारंभ 27 जून को होना है। इससे पहले किए गए दोनों ट्रायल में सेमी हाईस्पीड ट्रेन जानवर से टकराई। 12 जून को पहले ट्रायल में जानवर से टक्कर होने के बाद 18 को हुए दूसरे ट्रायल में भी ऐसा ही हुआ। वहीं, ट्रैक पर पशु आ जाने के चलते पटना-रांची वंदे भारत ट्रेन को तीन बार इमरजेंसी ब्रेक लगाकर रोका गया। यह ट्रेन पटना जंक्शन से रांची के हटिया रेलवे स्टेशन के बीच चलाई जाएगी। पीएम नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस वंदे भारत को हरी झंडी दिखाएंगे।

पटना से हटिया जाने और हटिया से पटना आने के बीच दो बार के अनुभवों के आधार पर गति सीमा निर्धारण, रास्ते के संभावित अवरोध और आपात ब्रेक लगाने पर ट्रेन कितनी दूर जाकर रुकेगी, इसकी रिपोर्ट तैयार कर ली गई है। सामान्य परिचालन के दिनों में दो बार के अनुभवों से मिले फीडबैक को आधार बनाकर अंतिम रूप से परिचालन योजना बनाई जा रही है। दूसरे ट्रायल रन की निरीक्षण रिपोर्ट के अनुसार इस सेमी हाईस्पीड ट्रेन की रफ्तार अधिकतम 130, न्यूनतम 20 और औसत 62 किमी प्रतिघंटे रही। संभावित खतरा काउ प्रोन जोन में ट्रैक पर जानवर टहलते मिले। एक जगह ट्रेन के जानवर के टकराने की रिपोर्ट हुई है। इसके लिए राजेंद्र नगर कोचिंग कॉम्प्लेक्स को पर्याप्त संख्या में इंजन नोज उपलब्ध कराए गए हैं।

Bihar Weather: बिहार में सक्रिय हुआ मॉनसून, इन जिलों में वज्रपात-बारिश की चेतावनी; हीटवेव का भी अलर्ट

पीजी रेलखंड पर धीमी रफ्तार के बाद भी समय से पहले पहुंची पटना गया रेलखंड पर ट्रेन की रफ्तार बेहद धीमी रही। इस मार्ग पर ट्रेन को 13 जगह नियंत्रित कर चलाया गया। अधिकतम 160 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार क्षमता वाली ट्रेन न्यूनतम 20 किमी प्रतिघंटे तक चली। नदवां में इसकी रफ्तार सबसे कम 20 किमी प्रतिघंटे की रही।

इससे पहले पुनपुन में भी 30 किमी प्रतिघंटे की धीमी गति से चलाया गया। तारेगना के पास गति मात्र 40 किमी प्रतिघंटे रही। वहीं जहानाबाद से गया के बीच मखदुमपुर और बेला में 40 किमी प्रतिघंटे की धीमी गति से चली। इसके बाद भी ट्रेन समय से पहले गया पहुंच गई। निरीक्षण से मिले फीडबैक से यह पता चला है कि ट्रेन को एक्सलरेट करने में काफी कम समय लगा जबकि डिसेलेरेट करने में अपेक्षाकृत दोगुना तीन गुना समय लगा।

पद्मा और कागा के बीच जानवर से टकराई वंदे भारत

दूसरे ट्रायल रन में भी ट्रेन की राह में कोडरमा से आगे पद्मा और कागा स्टेशन के बीच किमी 43/13 पर जानवर से ट्रेन टकराई। वहीं बरकाकाना के पास ट्रैक पर जानवर टहलते रहे। दूसरे ट्रायल रन के दौरान चालक दल ने तीन बार इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन को रोका। इस दौरान यह भी परखा गया कि अगर यात्रियों से भरी ट्रेन को इमरजेंसी ब्रेक लगाकर रोकने की नौबत आई तो यह कितनी देर से कितनी दूरी पर रुकेगी। इस बार बिना यात्रियों के इमरजेंसी ब्रेक डिस्टेंस 630 मीटर, 490 मीटर और 710 मीटर रहा।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Latest News