Tuesday, July 23, 2024
Homeबिहारसुपौल पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 5 मानव तस्कर को पुलिस ने...

सुपौल पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 5 मानव तस्कर को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 25 हजार में लड़की को बेचने का प्रयास

DESK: सुपौल के जदिया में 5 मानव तस्कर को पुलिस ने गिरफ्तार किया. यूपी के पिता-बेटे और अररिया के पति-पत्नी शामिल हैं. 25 हजार रुपए में लड़की को बेचने का प्रयास कर रहे थे. मधेपुरा जिले के सिंहेश्वर की महिला के फर्द बयान पर प्राथमिकी दर्ज हुई. सुपौल के जदिया थाना इलाके में इन दिनों मानव तस्कर गिरोह काफी सक्रिय है, जो गरीब परिवारों के लोगों को झांसा देकर भोली भाली नाबालिग लड़की को अन्य प्रदेश के युवाओं हाथ मोटी रकम लेकर शादी के नाम पर बेच देता है. मामले का खुलासा तब हुआ, जब रविवार की रात गिरोह के सदस्यों द्वारा उत्तरप्रदेश के सहारनपुर निवासी युवकों के हाथों ढाई लाख रुपए में नाबालिग लड़की को बेचने का प्रयास कर रहे थे. इसी क्रम जदिया के ग्रामीणों ने एक 8 साल की बच्ची, गिरोह की एक महिला व एक पुरुष को पकड़ कर जदिया पुलिस के हवाले कर दिया.

जिसके बाद नाबालिग बच्ची की निशानदेही पर यूपी के दो लोगों के साथ गिरोह के अन्य सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया. पकड़े गए बच्ची की पहचान मधेपुरा जिले के सिंहेश्वर थाना क्षेत्र के सुखासन निवासी के रूप में की गई. नाबालिग बच्ची की मां ने जदिया थाना में दिए बयान में बताया कि उसका पति दिव्यांग है. सास, पति और बच्ची के साथ घर पर रहती है. सास भीख मांगकर किसी तरह परिवार का भरण पोषण करती है. भीख मांगने के दौरान मधेपुरा जिले के मुरलीगंज रेलवे स्टेशन पर अररिया जिले के भरगामा थाना क्षेत्र अंतर्गत सोनापुर वार्ड 2 निवासी जितेन्द्र शर्मा और बबिता देवी से मुलाकात हुई. दोनों ने बहला फुसलाकर कहा कि तुम्हारा पति दिव्यांग है. चलो मेरे साथ तुम्हारा दूसरा शादी करवा देंगे और बच्ची को अच्छे स्कूल में एडमिशन करवा देंगे.

25 हजार के लिए लड़की को बेचने का प्रयास

जिसके बाद महिला बच्ची को लेकर अररिया जिले के भरगामा सोनापुर स्थित जितेंद्र शर्मा के घर आ गई. जिसके बाद शनिवार को मां व बेटी को जदिया थाना के नंदना मोगलाघाट वार्ड 6 निवासी मो अमरुल के घर पर रख दिया गया. जहां तस्करों ने कहा कि बच्ची को स्कूल में एडमिशन के लिए ले जा रहे हैं और बच्ची को अपने साथ ऑटो से कुपाड़ी वार्ड 3 लेकर आ गया. जहां शादी के लिए आए यूपी के दो लोग पहले से मौजूद थे. वहां 25 रुपए लेकर बच्ची के शादी की बात तय हुई थी. जहां रात होने के इंतजार में बच्ची जदिया के ग्रामीणों के हत्थे चढ़ गई. जिसके बाद बच्ची गिरोह के चंगुल से बच गई.

धर्म परिवर्तन की थी कोशिश

दावा किया जा रहा है कि मानव तस्कर हिन्दू लड़की का धर्म परिवर्तन कर शादी करवाने की फिराक में लगे हुए थे. गिरफ्तार आरोपियों में अररिया निवासी जितेंद्र शर्मा और उसकी पत्नी बबिता देवी, स्थानीय मो अमरुल सहित यूपी के सहारनपुर निवासी मो सुवालीन और उसके पिता मो जहीर अहमद शामिल हैं. पुलिस ने सभी आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. आपको बता दें कि इलाके में इसी प्रकार गरीब परिवारों को निशाना बनाते हैं, जहां मानव तस्कर शादी के नाम पर लड़की वालों को पैसे का भी प्रलोभन देते हैं और फिर बाद में लड़की को बेच दिया जाता है. हालांकि जदिया थाना इलाके की इस घटना में जैसे ही स्थानीय लोगों को भनक लगी, लोगों ने सजगता से काम लिया और तस्कर पुलिस के हत्थे चढ़ गए.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Latest News