Saturday, June 15, 2024
Homeबिहारकटिहार गोलीकांड में एसपी का बड़ा दावा, पुलिस की गोली से नहीं...

कटिहार गोलीकांड में एसपी का बड़ा दावा, पुलिस की गोली से नहीं हुई कोई मौत, CCTV से मिला सबूत

डेस्क: कटिहार के बारसोई इलाके में अनियमित बिजली के विरोध में प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच हुई झड़प मामले में एसपी जितेंद्र कुमार ने बड़ा दावा किया है। उन्होने कहा कि झड़प में जिन दो युवकों खुर्शीद और सोनू साव की मौत हुई थी वो पुलिस की गोली से नहीं हुई है। हादसे वाली जगह लगे सीसीटीवी कैमरों खंगालने के बाद नए तथ्य सामने आए हैं।

पुलिस की गोली से नहीं हुई मौत

एसपी जितेंद्र कुमार ने कहा कि मृतक की बॉडी जहां मिली और पुलिसकर्मी जहां था वहां से यह नामुमकिन है कि पुलिस की गोली लगने से दोनों की मौत हुई है। जबकि सीसीटीवी में साफ देखा जा सकता है कि एक लड़का पिस्तौल लेकर आता है और दोनों मृतकों को गोली मारकर भाग जाता है। उन्होने कहा कि फुटेज के आधार पर आरोपी की पहचान कर ली गई है। जिसने फायरिंग की है, उसकी तस्वीर सीसीटीवी में कैद हो गई है। इस मामले में दो एफआईआर दर्ज की गई है। एक बिजली विभाग और एक पुलिसकर्मियों की ओर से दर्ज कराई गई है।

पोस्टमार्टम में गोली लगने से मौत की पुष्टि

हालांकि इस बात की पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हो चुकी है कि दोनों की मौत गोली लगने से ही हुई है। बुधवार देर रात हुए पोस्टमार्टम के दौरान सोनू के सिर में अटकी गोली निकाली गई। गोली का आकार देखकर अनुमान लगाया जा रहा है कि यह 9 एमएम की है, जो संभवत किसी पिस्टल से चलाई गई। पुलिस ने कहा है कि गोली को एफएसएल जांच के लिए भेजा जाएगा। मृतक सोनू कुमार साह का पोस्टमार्टम रात के 1.30 बजे किया गया। खुर्शीद आलम के शव का पोस्टमार्टम 2.30 बजे के करीब हुआ। पोस्टमार्टम तीन सदस्यीय टीम द्वारा किया गया। सोनू के शव का पोस्टमार्टम से पहले एक्सरे कराया गया। एक्स-रे में मृतक के सिर के अंदर 9एमएम की गोली फंसे होने की जानकारी मिली।

दो सदस्यीय जांच टीम का गठन

वहीं इस मामले में जिलास्तरीय दो सदस्यीय जांच टीम का गठन गरुवार को कर दिया गया। डीएम रवि प्रकाश और एसपी जितेंद्र कुमार के संयुक्त आदेश पर एडीएम और एसडीपीओ मुख्यालय को इसकी जवाबदेही दी गयी है। दोनों अधिकारियो को एक सप्ताह का मोहलत दिया गया है। एक सप्ताह के अंदर दोनों अधिकारी पूरे घटनाक्रम की जांच करने के बाद हरेक बिंदु की जानकारी अपनी रिपोर्ट में देंगे। इस कमेटी की मॉनिटरिंग डीएम-एसपी खुद करेंगे। डीएम रवि प्रकाश ने कहा कि टीम के हर दिन की गतिविधि की रिपोर्ट ली जाएगी। एसपी ने बताया कि बारसोई में बिजली को लेकर चल रहे प्रदर्शन के क्रम में लोगों ने बिजली कार्यालय में तोड़फोड़ व पथराव के बाद वरीय प्रशासनिक व पुलिस पदाधिकारियों को बंधक बना लिया था।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Latest News