Home » Business » PM KISAN YOJANA: योजना में नाम फिर भी नहीं आया 2,000 रुपये की किस्त का मैसेज तो तुंरत करें यह काम

PM KISAN YOJANA: योजना में नाम फिर भी नहीं आया 2,000 रुपये की किस्त का मैसेज तो तुंरत करें यह काम

by Top Bihar
0 comment

PM KISAN YOJANA:  लगातार तीसरी बार पीएम पद की शपथ लेने के बाद नरेंद्र मोदी ने दो सप्ताह के भीतर ही देश के लघु-सीमांत किसानों के लिए 2,000 रुपये की 17वीं किस्त जारी कर दी। पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को वाराणसी में एक कार्यक्रम के दौरान योजना की किस्त का पैसा जारी किया, जिसके बाद किसानों के फोन में धड़ाधड़ मैसेज बजने शुरू गए। इससे किसानों के चेहरे पर काफी उत्साह देखने को मिला।

अभी बड़ी संख्या में ऐसे किसान हैं जिन्हें 17वीं किस्त का पैसा नहीं मिला। अगर आपका नाम पीएम किसान सम्मान निधि योजना से लिंक है और पैसा नहीं आया तो चिंता ना करें। सरकार ने कुछ लापरहवाह किसानों को किस्त का पैसा नहीं दिया है। अगर आपने सभी शर्तें पूरी कर रखीं हैं और पैसा नहीं आया तो प्लीज एक बार चेक जरूर लें। केंद्र सरकार की तरफ से 9.3 करोड़ किसानों के लिए किस्त का पैसा जारी किया गया है।

इन किसानों को नहीं मिला किस्त का पैसा

केंद्र सरकार द्वारा जारी की गई पीएम किसान सम्मान निधिन योजना की 2,000 रुपये की 17वीं किस्त तो जारी कर दी गई, लेकिन अभी भी बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं जो वंचित रह गए। नरेंद्र मोदी ने 20 हजार करोड़ रुपये 9.3 करोड़ किसानों के लिए जारी किए हैं। इस योजना से रजिस्टर्ड किसानों की संख्या करीब 12 करोड़ है। अभी बड़ी संख्या में ऐसे किसान हैं जिन्हें किस्त का फायदा नहीं मिला है।

अगर आपका नाम पीएम किसान सम्मान निधि योजना से लिंक है और पैसा नहीं मिला तो जरूरी बातों को जान लें। सरकार द्वारा ऐसे किसानों को पैसा नहीं दिया गया, जिन्होंने ई-केवाईसी और भूसत्यापन का काम नहीं कराया था। अगर आपने ई-केवाईसी और भूसत्यापन का काम करा रखा है फिर भी योजना का पैसा खाते में नहीं आया तो फिर इसे आराम से चेक करके अपना कंफ्यूजन खत्म कर सकते हैं।

लिस्ट में यूं चेक करें नाम

  • लाभार्थी किसान आराम से योजना की आधिकारिक वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाएं।
  • इसके बाद फार्मर कॉर्नर के विकल्प पर जाकर लाभार्थी लिस्ट पर क्लिक करने की जरूरत होगी।
  • फिर आपको राज्य, जिला, उप-जिला और पंचायत की जानकारी का चयन करने की जरूरत होगी।
  • फिर आधार नंबर या बैंक खाता नंबर भरने की जरूरत होगी। फिर गेट डेटा पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद में आपको लाभार्थी सूची में नाम चेक करना होगा।

जानकारी के लिए बता दें कि किसानों की समस्या के लिए विभाग की तरफ से एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी कर दिया गया है। किसान चाहें तो हेल्पलाइन नंबर 011-24300606 और 155261 पर कॉल कर सकते हैं।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

You may also like