तुरकौलिया से एक बार कोटवा में पहली बार एटीएम उखाड़ा तो 40 लाख दूसरी बार 3लाख 77रुपए लेकर हुए फरार,पुलिस की कार्यशैली पर उठ रहा सवालिया निशान।

Top Bihar
5 Min Read
2019 में पताही बैंक लूट और2021 में तुरकौलिया,कोटवा में एटीएम से रूपए की चोरी,कोटवा से एटीएम ही उखाड़ ले गए चोर फिर भी बाहर ही घूम रहे है एटीएम चोर गिरोह,जब्कि जिले में अपराधियों को पकड़ने के लिए एसआईटी टीम की हुई थी गठन।

18 फरवरी 2019 में हुई थी पताही बैंक में 34 लाख की लूट,पुलिस की लाख दावों के बाद भी आजतक नहीं हुआ उद्भेदन,फिर 2021 की लूट की घटनाओं को सिर्फ कागजों में ही किया गया बंद, लूटने वाले गिरोह अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

मोतिहारी: (दिव्यांशु रमण) कोटवा थाना क्षेत्र में एटीएम को ही उखाड़ ले गए थे चोर उसके बाद एसपी नवीन चन्द्र झा ने थानाध्यक्ष नितिन कुमार को लाईन हाजिर कर दिया था फिर ईस घटना की पुलिस जाँच कर ही रही थी नए थानाध्यक्ष के रूप में अनुज कुमार को जिम्मेदारी दी गई थी  उसके बाद घटना के 1 महीने में ही पुलिसिया कार्यशैली को खुलेआम ठेंगा दिखा कर फिर से लूट ली एटीएम से पैसे ईस बार भी चोरों ने एटीएम ही उखाड़ने की कोशिश की थी लेकिन जब एटीएम नही उखाड़ पाए तो सिर्फ कैश लेकर ही फरार हो गए आखिर पुलिस की कार्यशैली पर सवाल क्यों ना हो जिस थाना क्षेत्र में पुलिस की लापरवाही से एटीएम उखाड़ लेने के वाबजूद भी पुलिस को भनक तक नहीं हुई उस थानाध्यक्ष को लाईन हाजिर कर दिया जाता है  उसके बाद पुलिस ने ईतनी बड़ी गलती की आखिर जिस थाना क्षेत्र में ईतनी बड़ी घटना हो जाए उस थाना क्षेत्र में पुलिस को एटीएम, बैंकों के आस पास तो सुरक्षा रखनी चाहिए थी लेकिन अगर एटीएम या बैंक के दूर तक भी पुलिस टीम होती तो ईतनी बड़ी घटना को दुबारा अंजाम नही दे पाते चोर।
मोतिहारी जिले में अभी तक जितने भी लूट की घटनाएं हुई है उसमें से ज्यादातर घटनाओं का आजतक उद्भेदन नही हुआ पुलिस ने घटना को सिर्फ कागजों में ही बंद कर रखा है लेकिन लूटने वाले गिरोह को बंद करने की बात तो दूर है  उस गिरोह के बारे में कोई सटीक जानकारी तक पुलिस के पास नही है जानकारी है तो बस ईतनी की ये सब गिरोह दूसरे राज्यों से आते है और लूट की घटना को बड़े ही फ़िल्मी अंदाज में अंजाम देकर आराम से निकल जाते है।
एक रिपोर्ट देखा जाए तो 2019 में जिले के पताही थाना क्षेत्र के बैंक से हुई थी दीवार काट कर चोर बैंक के अंदर बड़े ही आराम से घुसे थे उसके बाद बैंक का सेफ काट 34 लाख रुपए की चोरी कर आराम से निकल गए थे  उसके बाद सुबह में जब सफाईकर्मी बैंक जाते ही दीवार और सेफ कटा देखता है तो पुलिस को सूचित किया गया फिर क्या था पुलिस भी फिल्मी अंदाज में आई जाँच हुई और बड़े बड़े वादे हुए लेकिन सिर्फ जाँच को कागजों में ही छोड़ दिया गया जो भी नए थानाध्यक्ष आते गए मामलें को धीरे धीरे नीचे दबाते गए।
फिर से वर्ष 2021के फरवरी में हरसिद्धि थाना क्षेत्र में एटीएम से हुई थी 3लाख के करीब की चोरी उसके बाद उसका भी नही हुआ उद्भेदन सिर्फ टीम बनी और कागजों में दबती चली गई।
फिर अभी घटना धीरे धीरे लोग भूल ही रहे थे तभी बाहर से फिल्मी अंदाज में आए चोरों ने कोटवा,तुरकौलिया थाना क्षेत्र से 40 लाख रुपए की चोरी कर पुलिसिया कार्यशैली पर एक बहुत बड़ा सवालिया निशान खड़ा कर दिया फिर से जाँच और नई टीम का गठन किया गया लेकिन जानकारी सर्फ ईतनी की चोरी करने वाला बाहरी गिरोह है।
उसके बाद भी पुलिस ने अपनी लापरवाही दिखाई जिसके कारण कोटवा थाना क्षेत्र में दूसरी बार भी एटीएम से 3 लाख 77 हजार रुपए की चोरी हुई और पुलिस को एकदम नकारा दिखाते निकल गए चोर।
लेकिन जब जिले की कमान संभाली है डॉ कुमार आशीष ने तो जनता को लगता है की अब जिले में चोर,अपराधियों का दबदबा नही चलेगा बल्की अब पुलिस का ही राज रहेगा और आमजनों की सुरक्षा हो सकती है।
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Share This Article
Leave a comment