Sunday, July 21, 2024
HomeदेशAnantnag Encounter: अनंतनाग में आज भी मुठभेड़ जारी, घने जंगल में आतंकी...

Anantnag Encounter: अनंतनाग में आज भी मुठभेड़ जारी, घने जंगल में आतंकी ठिकानों पर बम बरसा रहे जवान

Anantnag Encounter: जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में लगातार चौथे दिन भी मुठभेड़ जारी है. बुधवार तड़के शुरू हुए इस एनकाउंट में अब तक चार जवान शहीद हो चुके हैं. वहीं आतंकियों के खात्मे के लिए सेना के जवान रॉकेट लांचर और हेक्साकाप्टर ड्रोन से आतंकी ठिकानों पर बम गिरा रहे हैं. बताया जा रहा है कि कोकेरनाग के जंगलों में मौजूद पहाड़ियों पर 2 से 3 आतंकी छिपे हो सकते हैं. सुरक्षा बलों ने आतंकियों को घेर लिया है. आतंकियों पर लगातार बम गिराए जा रहे हैं. आतंकी ठिकानों पर ड्रोन से बम गिराए जा रहे हैं. कश्मीर के एडीजीपी ने इस ऑपरेशन पर बड़ा अपडेट देते हुए एक्स पर लिखा, स्पेसिफिक इनपुट के आधार पर ऑपरेशन चलाया जा रहा है. 2-3 आतंकवादी घिरे हुए हैं, जिन्हें जल्द पकड़ा जाएगा.

मुठभेड़ के पहले दिन शहीद हुए थे तीन अधिकारी

बता दें कि अनंतनाग में चल रहा ये एनकाउंटर बुधवार को शुरू हुई थी. इसी दिन सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस के तीन अधिकारी शहीद हो गए थे. जिसमें 19 राष्ट्रीय राइफल्स के कमांडिंग आफिसर कर्नल मनप्रीत सिंह, मेजर आशीष धानोक और डीएसपी हुमायूं मुजम्मिल भट्ट शामिल थे. ऑपरेशन के दौरान एक जवान भी शहीद हुआ है. इसके बाद इस एनकाउंटर में शहीद होने वाले जवानों की संख्या चार हो गई है. सेना के सूत्रों के मुताबिक, ऑपरेशन को जल्द खत्म कर दिया जाएगा, क्योंकि आतंकियों के पास मौजूद गोला बारूद खत्म हो गए हैं. लेकिन वह ऊंची जगह पर छिपे होने की वजह से सुरक्षा बलों से अभी तक बचे हुए हैं. मुठभेड़ वाले इलाके को सुरक्षा बलों ने चारों तरफ से घेर रखा है. आम लोगों को उस तरफ आने जाने पर पाबंदी लगा दी गई है.

वरिष्ठ अधिकारियों की नगरानी में चल रहा अभियान

अनंतनाग में चल रहा एनकाउंट पर सेना और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी अपनी नजर बनाए हुए हैं और सैनिकों को लगातार निर्देश दे रहे हैं. आतंकियों के खात्मे का अभियान चिनार कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल राजीव घई, विक्टर फोर्स के कमांडर मेजर जनरल बलवीर सिंह और जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह समेत सेना और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी कर रहे हैं जो मौके पर मौजूद हैं.

2020 के बाद सबसे लंबी मुठभेड़

बताया जा रहा है कि पिछले चार दिनों से चल रही ये मुठभेड़ 2020 के बाद से अब तक की सबसे लंबी मुठभेड़ है. शुक्रवार के बाद शनिवार सुबह एक बार फिर से सेना के जवानों ने आतंकियों के खात्मे के लिए अभियान शुरू किया है. इस अभियान में सेना का पैरा कमांडो दस्ता भी शामिल है. बताया जा रहा है कि जैसे ही जवान पहाड़ी की ओर बढ़े आतंकियों ने उन पर गोलीबारी शुरू कर दी. अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार सुबह 40 मिनट तक आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच गोलीबारी चलती रही. इसके लगभग ढाई घंटे बाद सुबह 11 बजे फिर से आतंकियों और जवानों के बीच मुठभेड़ शुरू हुई. इसके बाद दोपहर दो बजे एक शहीद जवान का पार्थिव शरीर मुठभेड़स्थल से नीचे लाया गया.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Latest News