G20 Summit: पहले पुतिन और अब शी जिनपिंग का भारत आना टला, आखिर माजरा क्या है

By Top Bihar

Published on:

Follow Us
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

G20 Summit:  भारत इस बार जी-20 सम्मेलन की मेजबानी कर रहा है. देश की राजधानी दिल्ली में जी-20 का सम्मेलन 9 और 10 सितंबर को होने जा रहा है, जिसमें दुनिया के 28 से ज्यादा देशों के राष्ट्राध्यक्ष और प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे. जिसमें अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों जैसे ताकतवर लोगों का नाम शामिल है. लेकिन इस बीच खबर आई है कि चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग जी-20 के सम्मेलन में हिस्सा लेने भारत नहीं आ रहे हैं.

हालांकि अभी केवल जिनपिंग के दिल्ली न आने की संभावना जताई गई है. क्योंकि जिनपिंग का भारत आना तय माना जा रहा था, चीनी विदेश मंत्रालय की तरफ से भी उनके भारत दौरे पर मुहर लग चुकी थी. लेकिन अब सूत्रों के हवाले से उनके ना आने की जानकारी मिली है. आपको बता दें कि इससे पहले रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का भी भारत आने का प्रोग्राम टल गया है.

शी जिनपिंग के जगह कोई करेगा चीन का प्रतिनिधित्व

दरअसल, समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने बताया कि अगले सप्ताह भारत में होने जा रहे जी-20 नेताओं के शिखर सम्मेलन से चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग खुद को दूर रख सकते हैं. हालांकि उनके भारत न होने की कोई स्पष्ट वजह नहीं बताई गई है. चीन स्थित एक भारतीय राजनयिक के लिए काम करने वाले एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि नई दिल्ली में 9 व 10 दिसंबर को आयोजित होने जा रहे जी-20 समिट में चीन की तरफ से प्रधानमंत्री ली कियांग प्रतिनिधित्व कर सकते हैं. वहीं, भारत और चीन के विदेश मंत्रालायों की तरफ से अभी तक इस बात पर कोई बयान नहीं आया है.

पुतिन भी नहीं आएंगे भारत

आपको बता दें कि इससे पहले रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का भी भारत दौरा टल चुका है. पुतिन का भी भारत आकर दिल्ली में जी-20 सम्मेलन में हिस्सा लेना प्रस्तावित था. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन कर जी20 सम्मेलन में हिस्सा न लेने की बात कही है. इस दौरान पुतिन ने कहा कि नई दिल्ली में 9 और 10 सितंबर को होने जा रहे जी20 सम्मेलन में उनकी जगह रूस की तरफ से विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव प्रतिनिधित्व करेंगे.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now