Friday, July 19, 2024
Homeदेशबुधवार के उपाय: आर्थिक संकट दूर करेंगे बुधवार के दिन अपनाएं गए...

बुधवार के उपाय: आर्थिक संकट दूर करेंगे बुधवार के दिन अपनाएं गए ये उपाय, मिलेगा सुख-समृद्धि का वरदान

Budhwar ke Upay: भगवान गणेश को प्रथम पूजनीय देवता कहा गया है और किसी भी शुभ कार्य से पहले इनकी पूजा का विधान है. मान्यता है कि गणेश जी का पूजन करने के बाद यदि किसी कार्य की शुरुआत की जाए तो वह कार्य सफल होता है. भगवान गणेश की पूजा के लिए सबसे खास दिन बुधवार होता है क्योंकि यह दिन गणपति को समर्पित है. ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक जिस व्यक्ति की कुंडली में बुध दोष होता है उसे जीवनभर शारीरिक, आर्थिक और मानसिक कष्टों से गुजरना पड़ता है. ऐसे में बुध दोष से निजात पाना बेहद जरूरी है. इसके लिए बुधवार के दिन भगवान गणेश का पूजन करने के साथ ही कुछ विशेष उपाय भी अपनाएं जा सकते हैं. आइए जानते हैं बुधवार के अचूक उपायों के बारे में.

बुधवार के उपाय

  1. अगर आप भगवान गणेश की कृपा पाना चाहते हैं तो बुधवार के दिन गणेश जी के मंदिर में जाएं और उनका पूजन करें. गणेश जी की 5, 7, 11 या 21 परिक्रमा लगाएं और अपनी मनोकामना पूर्ति के प्रार्थना करें.
  2. जिस व्यक्ति की कुंडली में बुध दोष है और उसे आर्थिक व शारीरिक कष्टों का सामना करना पड़ रहा है तो उसके लिए बुधवार की पूजा बेहद ही महत्वपूर्ण है. बुधवार के दिन गणपति के साथ ही मां दूर्गा का भी पूजन करना चाहिए. साथ ही ‘ओम ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे’ मंत्र का 5, 7, 11 या 21 बार जाप उच्चारण करना चाहिए. इससे बुध दोष का प्रभाव का कम होता है और आर्थिक संकट से छुटकारा मिलने लगता है.
  3. बुधवार के दिन हरे रंग के कपड़े पहनना शुभ माना गया है और इस दिन किसी जरूरतमंद को रही मूंग दाल का दान अवश्य करना चाहिए. इसके अलावा हरें वस्त्रों का दान करना भी लाभकारी होता है.
  4. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भगवान गणेश को दूर्वा व लड्डू अति प्रिय है. इसलिए बुधवार के दिन उनकी पूजा करते समय 21 दूर्वा अर्पित करें और लड्डूओं का भोग लगाएं. इससे जीवन में आ रही परेशानियों से छुटकारा मिलेगा.
  5. यदि आपका कोई काम बार-बार बनते-बनते बिगड़ रहा है तो परेशान न हो, बल्कि बुधवार के दिन गाय को हरी घास खिलाएं. यदि संभव हो तो गोशाला में भी हरी घास का दान करें. इससे आपके कार्य पूर्ण होंगे और सफलता मिलेगी.

डिस्क्लेमर: यहां दी गई सभी जानकारियां सामाजिक और धार्मिक आस्थाओं पर आधारित हैं. TopBihar.Com इसकी पुष्टि नहीं करता. इसके लिए किसी एक्सपर्ट की सलाह अवश्य लें.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest News