कनाडा आतंकियों के लिए सुरक्षित पनाहगाह, भारत के आरोप को मिला बांग्लादेश-श्रीलंका का समर्थन

By Top Bihar

Published on:

Follow Us
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

DESK: कनाडा में आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या का आरोप कनाडाई पीएम ने भारत पर लगाया था। इसके बाद से ही विश्व की जियो पाॅलिटिक्स में ग्लोबल साउथ बनाम ग्लोबल नाॅर्थ हो गया है। इतना ही नहीं कनाडा ने अपनी संसद में नाजी नेता यारोस्लाव हुंका को सम्मानित किया था। इन दोनों घटनाओं के बाद एक तरह समूचा विश्व कनाडा के खिलाफ हो गया है।

कनाडा का साथ देने लगा है अमेरिका

वहीं इन दोनों घटनाओं के बाद अमेरिका अब धीरे-धीरे कनाडा के साथ आ रहा है। अमरीकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने कहा कि हम किसी देश को छूट नहीं दे सकते। वहीं ऑस्ट्रेलिया ने भी कहा कि वह इसे लेकर चिंतित हैं। कनाडा को मिल रहे समर्थन के बाद भारत भी अकेला नहीं है। भारत को भी अपने दो पड़ोसी श्रीलंका और बांग्लादेश का समर्थन हासिल हुआ है।

श्रीलंका ने भी साधा निशाना

श्रीलंका के विदेश मंत्री अली साबरी ने कहा कि कनाडा आतंकियों के लिए सुरक्षित पनाहगाह बनता जा रहा है। उन्हें कनाडा में सुरक्षित ठिकाना लग रहा है। श्रीलंका ने कहा कि कनाडाई पीएम ने बिना किसी सबूत के भारत पर अपमानजनक आरोप लगाए हैं। विदेश मंत्री ने कहा कि श्रीलंका को लेकर भी उन्होंने बड़ा झूठ बोला था। साबरी ने कहा कि हर कोई जानता है कि हमारे देश में नरसंहार नहीं हुआ।

बांग्लादेश को मिला भारत का साथ

कनाडा मामले में भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश भी उतर गया है। बांग्लादेश के पहले राष्ट्रपति शेख मुजीबुर रहमान का मुख्य हत्यारा नूर चौधरी कनाडा में शरण लिए हुए हैं। बांग्लादेश कई बार कनाडा से उसके प्रत्यर्पण की मांग कर चुका है। लेकिन कनाडा इस मुद्दे पर खामोश है। कनाडा हमेशा बांग्लादेश की मांग को यह कहकर ठुकरा देता है कि वहां मृत्युदंड दिया जाता है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now