बिहार में लगातार पैर पसार रहा है डेंगू, पटना और भागलपुर में सबसे ज्यादा मरीज

By Top Bihar

Published on:

Follow Us
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Patna: बिहार में डेगू का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. सबसे ज्यादा राजधानी पटना और उसके बाद भागलपुर में डेंगू के मरीज मिल रहे हैं. हालांकि लगातार प्रशासन की ओर से डेंगू के रोक थाम के लिए उपाय किए जा रहे हैं. बावजूद इसके हर दिन नए मरीज मिलने से लोगों में दहशहत का माहौल है. बिहार में डेंगू लगातर लोगों को डस रहा है, जिससे मरीजों की संख्या में इजाफा हो रही है. पटना में डेंगू इस कदर पैर पसार रहा है कि हर दिन 50 से ज्यादा मरीज सामने आ रहे हैं. शनिवार को भी पटना में 70 नए मरीज मिलने से हड़कंप मच गया. जो इस सीजन का सबसे ज्यादा है. पटना में अब तक कुल 262 मरीज समाने आ चुके हैं जबकि प्रदेश की बात करें तो कुल डेंगू की मरीजों की संख्या 541 के पार पहुंच गई है. वहीं, बात भागलपुर की करें तो यहां शनिवार को 33 मरीज सामने आए जबकि कुल मरीजों की संख्या 233 के पार पहुंच गई है.

पटना में बढ़ रहे डेंगू के मरीज

पटना में लगातार बढ़ रहे डेंगू के मरीजों को लेकर नगर निगम भी पूरी तरह से अलर्ट हो गया है. जगह-जगह छिड़काव किये जा रहे हैं ताकि लोगों को डेंगू के डंक से बचाया जा सके. इसको लेकर नगर निगम की टीम पटना की गलियों और मुहल्लों में जाकर दवाई की छिड़काव कर रही है ताकि डेंगू के मच्छरों को पनपने से रोका जा सके.

पटना के आईजीआईएमएस में डेंगू के स्ट्रेन की जांच की गई है. जिसमें डेंगू के चारों स्ट्रेन मिले हैं. चारों स्ट्रेन मिलने का मतलब है कि इसका प्रकोप ज्यादा रहेगा. इससे पहले की जांच में 3 स्ट्रेन ही मिले थे. पीएमसीएच में अभी डेंगू के 14 मरीज भर्ती हैं. जिनका इलाज चल रहा है. बदलते मौसम में बुखार आम बात है, लेकिन अगर किसी को डेंगू है तो उसे कैसे पता चलेगा कि डेंगू ने उसे डंसा लिया है.

कस्तूरबा आवासीय विद्यालय में बड़ी लापरवाही! रात में खाना नहीं मिलने से नाराज थीं छात्राएं, टूटा सब्र का बांध तो अहले सुबह स्कूल से भागीं

डेंगू के लक्षण

  • सिर दर्द
  • मांसपेशियों, हड्डियों और जोड़ों में दर्द
  • जी मिचलाना
  • उल्टी लगना
  • आंखों के पीछे दर्द
  • ग्रंथियों में सूजन
  • त्वचा पर लाल चकत्ते होना

ये वो लक्षण है जिससे पता चलता है कि इंसान डेंगू का शिकार हो गया है. ऐसे में तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए. जांच के बाद पता चलेगा कि पीड़ित शख्स को डेंगू है या फिर कोई और बीमारी. एडीज मच्छर साफ और स्थिर पानी में पनपता है. पानी के बर्तन या टंकी को हर समय ढककर रखें और जरूरत हो तो एक उचित कीटाणुनाशक का उपयोग करें. बर्तन या सामान को उल्टा करके रखें, जिसमें पानी इकट्ठा हो सकता है और सतहों को अच्छी तरह से साफ करें. साथ ही डेंगू के मरीजों को इन बातों पर भी ध्यान देना चाहिए ताकि वो जल्द से जल्द ठीक हो सकें.

डेंगू मरीज इन बातों का रखें ध्यान

  • फ्रेश फ्रूट जूस और नारियल पानी पीना चाहिए.
  • मरीज को डॉक्टर की सलाह पर दवाई दें.
  • प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए पपीता, कीवी रोज खाये.
  • मसालेदार खाना अवॉइड करें.
  • गरम पानी का सेवन करें.
  • साफ-सफाई बनायें रखें.

ये वो उपाय है जिसका ध्यान रखकर मरीज डेंगू से लड़ सकता है और उससे हरा भी सकता है. यानी साफ कहें तो डेंगू से बचना है तो मच्छरों सो दूरी बनानी होगी.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now