बिहार

पुलिस कंट्रोल रूम में महिला सिपाही ने की खुदकुशी, सुसाइड नोट में सीनियर अफसर पर प्रताड़ना के आरोप

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

DESK: बिहार के समस्तीपुर में पुलिस कंट्रोल रूम के अंदर एक महिला सिपाही ने बुधवार को खुदकुशी कर ली। सिपाही अर्चना कुमारी 112 पुलिस टीम में काम करती थी। मृतका के पति सुमन कुमार भी समस्तीपुर में ही पुलिस कांस्टेबल के पद पर कार्यरत हैं। कुछ महीने पहले उन्हें सस्पेंड कर दिया गया था। पुलिस को मौके से दो पेज का सुसाइड नोट मिला है। उसमें अर्चना ने अपने पति के निलंबन और सरकारी क्वार्टर खाली कराने को लेकर सीनियर अफसर द्वारा दी जा रही प्रताड़ना का जिक्र किया है। अर्चना प्रताड़ना से आहत होकर फंदे से झूल गई। फिलहाल इस केस की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है।

महिला सिपाही के सुसाइड से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। महिला ने पंखे पर फंदा बनाकर अपनी जान दी। कमरे का गेट अंदर से बंद था। पुलिसकर्मी गेट तोड़कर अंदर पहुंचे और अर्चना को सदर अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सुसाइड नोट के मुताबिक अर्चना कुमारी अपने कांस्टेबल पति के निलंबन से आहत थी। इसके अलावा उसके परिवार को एक सीनियर अधिकारी द्वारा लगातार प्रताड़ित किया जा रहा था।

दो पेज के सुसाइड नोट में अर्चना ने लिखा है, “बीते दो महीने से मेजर सर द्वारा सरकारी रूम के लिए बहुत परेशान किया जा रहा है। हमने किसी प्रकार की बदतमीजी नहीं की। एसपी से लेकर सर्जेंट तक, सभी को सफाई दे दी। पति और बच्चे बहुत परेशान हैं। मुझे क्वार्टर खाली करने के लिए मजबूर किया गया। हम लोग जहां शिफ्ट हुए वहां बच्चों को काफी परेशानी हो रही है। पति का निलंबन किया गया। पांच साल से प्राइवेट क्वार्टर में रह रहे हैं। लोन की किस्तें कट रही हैं। आर्थिक रूप से काफी परेशानी हो रही है।”

एसआईटी करेगी जांच

महिला सिपाही की खुदकुशी के मामले की जांच एसआईटी करेगी। एसपी विनय तिवारी ने गुरुवार को सोशल मीडिया के जरिए यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now