बिहार

नालंदा से सामने आई खूबसूरत तस्वीर, सास-बहू की जोड़ी ने एक साथ दिया परीक्षा

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Nalanda:  नालंदा से एक खूबसूरत तस्वीर देखने को मिली, जहां सास-बहू की जोड़ी परीक्षा देती नजर आई. 55 साल की पंभी देवी को कैसे पढ़ने की प्रेरणा मिली. कहते हैं पढ़ाई करने की कोई उम्र नहीं होती और इस बात को नालंदा की पंभी देवी ने साबित कर दिया. जिनकी उम्र 55 साल है, लेकिन उम्र के इस पड़ाव पर आकर उन्होंने शिक्षा को चुना और बच्चों से सीख मिलने के बाद पंभी देवी ने कलम थाम लिया. नालंदा जिले में मुख्यमंत्री अक्षर आंचल योजना के तहत जिले के 105 केंद्रों पर महापरीक्षा का आयोजन किया गया. इस महापरीक्षा में 11 हजार वैसी महिलाएं शामिल हुईं, जो बचपन में किसी कारणवश पढ़ाई नहीं कर सकी, लेकिन बाद में उन्होंने पढ़ाई शुरू की.

सास-बहू की जोड़ी परीक्षा देती नजर आई

ऐसे में बिहारशरीफ के मध्य विद्यालय में भी महापरीक्षा का आयोजन हुआ. जिसमें एक खूबसूरत तस्वीर देखने को मिली. यहां वैसे तो कई महिलाएं परीक्षा में शामिल हुईं, लेकिन लोगों का ध्यान पंभी देवी ने खींचा. जो अपनी बहू के साथ परीक्षा देने आई थी. उनकी बहू और उन्होंने बचपन में कभी पढाई नहीं की. जब घर में पोते-पोती को पढ़ते देखा, तो उन्हें भी पढ़ने का मन किया. इस बीच गांव के शिक्षा सेवक मुन्ना मांझी ने उनकी मदद की. शिक्षा सेवक के सहयोग से दोनों सास-बहू ने पढ़ाई शुरू की.

55 साल की पंभी देवी ने थामा कलम

कभी ये महिलाएं अंगूठा लगाया करती थी, आज उन्हीं हाथों में कलम पकड़कर लिख रही है. हालांकि परीक्षा केंद्र में पंभी देवी की तरह ही कई और महिलाएं भी दिखीं. जिन्होंने परीक्षा में भाग लिया. ये सभी महिलाएं ऐसी हैं. जिन्हें बचपन में तो शिक्षा का अधिकार नहीं मिल सका, लेकिन जैसे ही इन्हें मौका मिला, इन्होंने शिक्षा को अपना लिया. आज ये सभी महिलाएं पढ़ भी रही हैं और पढ़ा भी रही हैं.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now